मेरा सपना (जरूर पढ़ें) My Dearms

0

दोस्तों, मुझे ऐसा लगता है कि जब-जब आप मुझे टी.वी. पर सेहतप्राश के विज्ञापन में देखते होंगे तो आपका भी मन करता होगा कि काश मेरी सेहत भी सरदार जी की तरह ही होती, तो दोस्तों मैं आपको बताना चाहूंगा कि अब सेहत बनाना कोई बहुत बड़ी बात नहीं है। अगर आप भी खाते-पीते तो बहुत हैं, पर फिर भी खाया-पीया आपके शरीर में नहीं लगता तो आपको मेरी तरह आयुर्वेदिक सेहतप्राश का नियमित प्रयोग करना चाहिये। मैं भी पहले बहुत ही दुबला पतला व कमजोर था। मेरे रिश्तेदार तो अक्सर ही मुझे पतला-पापड़ कहकर चिढ़ाते थे।
अब क्या बताऊं दोस्तो, ऊपर से तो मैं उनका मजाक सुनकर हंस कर टाल देता था लेकिन अन्दर ही अन्दर मैं आत्मगिलानी से भरता जा रहा था। अपने दुबलेपन व पतलेपन के कारण मंैने धीरे-धीरे मैंने अपने सभी रिश्तेदारों के यहां आना-जाना काफी कम कर दिया।
अच्छी पढ़ाई करने के बाद भी कहीं नौकरी ही नही लग पा रही थी, क्योंकि जो कांफिडेंस अन्दर से आता है वो कमजोर शरीर होने के कारण आ ही नही पा रहा था, साथ ही मेरा बचपन से ही मेरा सपना देश की रक्षा करना रहा था। पर जैसे ही मैंने टीनएज में कदम रखा, मुझे टाइफाइड ने घेर लिया। तकरीबन छः से सात महीने तक मैं घर पर ही रहा। मेरा कमजोर शरीर, मेरे सपनों के बीच में बहुत बड़ी बाधा बनकर आ चुका था। मुझे समझ नहीं आ रहा था मुझे क्या करना है? मैंने बहुत ट्राई किया, पर कुछ नहीं हुआ।

 


फिर एक दिन मेरे को मेरे दोस्त ने चेतन हर्बल के सेहतप्राश के बारे में बताया, जिसे लेने के बाद मेरी सेहत ही अच्छी नहीं, बल्कि मेरा सिलेक्शन भी हो गया और दोस्तों इसे लेने के लिए मुझे हजारों-लाखों रुपए खर्च नहीं करने पड़े। केवल 525 रु. की रकम से मेरा सपना साकार हुआ और आज मैं आपके सामने हूं।
अब सुन्दर पर्सनैलिटी और आर्कषक शरीर का मालिक हूं, मैं दिल से चेतन हर्बल्स की पूरी टीम का धन्यवाद करता जिहांेने आयुर्वेदिक औषधियों से सेहतप्राश कैप्सूल का निर्माण कर, इसे देश के कोने-कोने में, घर बैठे लोगों तक पहंुचाने का जिम्मा उठाया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *