वजन बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

0

आयुर्वेद के अति प्राचीन व शीर्षस्थ ग्रन्थ चरक संहिता में हजारों वर्ष पहले सेहत बनाने का जो मूल मंत्र बताया गया है। वह आज भी उतना ही महत्पूर्ण है। इसमें कहा गया है कि पौष्टिक खान पान, चिंता न करने एवं रोज पर्याप्त एवं गहरी नींद लेने से व्यक्ति, सिंह के समान ताकतवर, बल शाली एवं पुष्ट शरीर वाला बन जाता है। यह बात आधुनिक चिकित्सा विज्ञान के बहुत प्रगति कर लेने के बावजूद आज भी उतनी ही सही है। जितनी हजारों वर्ष पहले थी।

आयुर्वेद के उपाय अपनाएं

वजन बढ़ाने में अति उपयोगी आयुर्वेद की कुछ महत्वपूर्ण औषधियां वजन बढ़ाने में बहुत फायदेमंद हैं वो ये हैं- अश्वगंधा, शतावरी, विदारा, मूसली, आमलकी, बला, विदारीकंद, शिलाजीत, मूसली, पुनर्नवा मंडूर, स्वर्ण भस्म, लौह भस्म, बसंत कुसुमाकर रस, स्वर्ण बसंत मालती रस आदि। किन्तु इन्हें चिकित्सक की राय से ही सेवन करना चाहिए।
ऊपर बताये गए उपायों के साथ-साथ यदि आयुर्वेद में बताई गई औषधियाँ भी चिकित्सक की राय से ही ली जायें, जो कि बिल्कुल नैचुरल हैं। जिससे ना सिर्फ संतुलित वजन बढे़गा बल्कि चुस्ती फुर्ती, जोश व भरपूर शक्ति मिलेगी, शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति बढ़ेगी, बीमार पड़ने की सम्भावना कम होगी, आत्म विश्वास बढे़गा और सदा स्वस्थ रहते हुए सुखी जीवन का निर्वहन कर पाएंगे।

यह आर्टिकल आप Weightgain.co.in पर पढ़ रहे हैं..

ज्यादा या कम होना दोनों ही अनेक स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं का कारण बनते हैं। जिस तरह weight कम करना मुश्किल कार्य है, वैसे ही नेचुरल तरीके से संतुलित वजन बढ़ाना भी चुनौती पूर्ण कार्य है। बहुत से लोग इंस्टैंट कॉफी की तरह तुरंत weight gain करना चाहते हैं जो कि भविष्य में उनके लिए अनेक ीमंसजी तमसंजमक पेेनमे खड़े कर देता है, इसलिए जब भी वजन बढ़ाने का कार्यक्रम शुरू करें तो संतुलित खान-पान एवं रहन-सहन पर विशेष ध्यान दें। यदि जरूरत हो तो चिकित्सक की राय ले सकते हैं।
वजन बढ़ाने के लिये आप चेतन हर्बल्स प्रा.लि. द्वारा बनाये गये आयुर्वेदिक ‘सेहतप्राश कैप्सूल’ का भी प्रयोग कर सकते हैं। इसे अश्वगंधा, विदारा, विदारीकंद और चित्रक जैसी शद्ध व दुर्लभ जड़ी-बूटियों के सत्व से तैयार किया गया है। इसे संपूर्ण भारतवर्ष में हजारों लोगों ने अपनाया और सुदंर, सुडौल व गठीला जिस्म पाया।
यह काम करता है सीधा आपके शरीर की पाचन क्रिया पर, जिससे आप जो कुछ भी खाते हैं वो आपके शरीर को लगने लगता है।
यह निश्चित ही 10-15 दिनों अपना असर दिखाना शुरू कर देता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *